Happy Independence Day Shayari || Deshbhakti Shayari ||स्वतंत्रता दिवस पर शायरी ||15 अगस्त पर शायरी

Happy Independence Day Shayari || Deshbhakti Shayari|| स्वतंत्रता दिवस पर शायरी || 15 अगस्त पर शायरी

 

इस पोस्ट मे आपको स्वतंत्रता दिवस को नई नई शायरी मिलेंगी, जो 15 अगस्त को हर साल भारत में मनाया जाता है।

 

Independence Day Shayari 

 

ना पूछो जमाने को कि क्या हमारी कहानी है,

 हमारी पहचान तो बस इतनी है कि हम हिंदुस्तानी हैं।।

 

Na Pucho Jamane Ko Ki Kya Hamari Kahani Hai,

Hamari Pahchan To Bas Itni Hai Ki Hum Hindustani Hai.

 

सलाम करो उनको जिनके हिस्से में ये मुकाम आया,

और खुशनसीब होता है वो खून जो हमारे देश के काम आया।।

 

Salaam Karo Unko Jinke Hisse Me Ye Mukam Aaya,

Aur Khushnaseeb Hota Hai Wo Khoon Jo Hamare Desh Ke Kaam Aaya.

 

Independence day shayari photo
Independence Day Shayari Photo

 

स्वतंत्रता दिवस पर शायरी 

 

हम अपनी जान के दुश्मन को अपनी जान कहते हैं,

 मोहब्बत की इसी मिट्टी को हिंदुस्तान कहते हैं।।

 

Hum Apni Jaan Ke Dushman Ko Apni Jaan Kahte Hai,

Mohabbat Ki Isi Mitti Ko Hindustan Kahte Hai.

 

जो बहाया पसीना मैदान में एक एक बूंद का हिसाब ले आएंगे,

 यह भारत मां के लाल हैं यूं ही पूरी दुनिया में तिरंगा लहराएंगे।।

 

Jo Bahaya Paseena Medan Me Ek Ek Boond Ka Hisab Le Aayenge,

Ye Bharat Maa Ke Laal Hai Yu Hi Puri Duniya Me Tiranga Lahrayenge.

 

Independence Day Shayari Image
Independence Day Shayari Image

 

2 Line Independence Day Shayari

 

कि अगर किसी पर मर मिटने को इश्क कहते हैं,

 तो कोई फौजी से बड़ा आशिक बता दो जनाब।।

 

Ki Agar Kisi Par Mar Mitne Ko Ishq Kahte Hai,

To Koi Fauji Se Bada Aashiq Bata Do Janab.

 

ना शोहरत चाहिए ना जन्नत चाहिए,

 हे भारत मां बस तेरी मिट्टी चाहिए।

 जब तक जिंदा हूं तेरे ही आंचल में,

 जब मरू तिरंगा कफन चाहिए।।

 

Na Shauharat Chahiye Na Jannat Chahiye,

Hey Bharat Maa Bas Teri Mitti Chahiye.

Jab Tak Jinda Hu Tere Hi Anchal Me,

Jab Maru Tiranga Kafan Chahiye.

 

Independence day shayari images
Independence day shayari images

 

15 August Independence Day Shayari 

 

मेरे देश के फौजी जैसा पूरी दुनिया में कोई जवान नहीं,

 सांसे सरहदों पर गिरवी पर गिरवी उसका ईमान नहीं।।

 

Mere Desh Ke Fauji Jesa Puri Duniya Me Koi Jawan Nahi,

Sanse Sarhado Par Girvi Par Girvi Uska Iman Nahi.

 

ये धरती जिसकी मां है आसमान जिसका बाप,

और परिवार जिसका देश है मैं उसकी एक डाली हूं,

 और अपने आप को फौजी इंसान बताने से पहले हिंदुस्तानी हूं।।

 

Ye Dharti Jiski Maa Hai Aasman Jiska Baap,

Aur Parivar Jiska Desh Hai Me Uski Dali Hu,

Aur Apne Aap Ko Fauji Insan Batane Se Pahle Hindustani Hu.

 

Independence Day Shayari 2023

 

ना हूर चाहिए ना हीर चाहिए,

 मां भारती का बेटा हूं तिरंगा मिले कफन मुझे वो तकदीर चाहिए।।

 

Na Hoor Chahiye Na Heer Chahiye,

Maa Bharti Ka Beta Hun Tiranga Mile Kafan Mujhe Wo Takdeer Chahiye.

 

हमें पहचानते हो हम को हिंदुस्तान कहते हैं,

 मगर कुछ लोग जाने क्यों हमें मेहमान कहते हैं।।

 

Hame Pahchante Ho Hum Hindustan Kahte Hai,

Magar Kuch Log Jane Kyo Hame Mehman Kahte Hai.

 

76 Independence Day Shayari 

 

इस वतन के रखवाले हैं हम,

 शेर जिगर वाले हैं हम।

मौत से हम नहीं डरते,

मौत की बाहों में पाले हैं हम।।

 

Is watan Ke Rakhwale Hai Hum,

Sher Jigar Wale Hai Hum.

Maut Se Hum Nahi Darte,

Maut Ki Baho Me Pale Hai Hum.

 

सपनों के झूलों में हम सभी झूल जाते,

ये तो अच्छा है नोट पर छप गए वरना महात्मा गांधी को भी भूल जाते।।

 

Sapno Ke Jhoolo Me Hum Sabhi Jate,

Ye To Acha Hai Not Par Chhap Gaye Warna Mahatma Gandhi Ko Bhi Bhool Jate.

 

Independence Day Shayari In Hindi 

 

मैं इसका हनुमान हूं ये देश मेरा राम है,

 छाती चीर के देख लो अंदर बैठा हिंदुस्तान है।।

 

Me Iska Hanuman Hu Ye Desh Mera Ram Hai,

Chhati Cheer Ke Dekh Lo Andar Baitha Hindustan Hai.

 

जब आंख खुले तो धरती हिंदुस्तान की हो,

 जब आंख बंद हो तो याद हिंदुस्तान की हो।

हम मर भी जाए तो कोई गम नहीं,

 बस इतना याद रहे कि मरते वक्त भी मिट्टी हिंदुस्तान की हो।।

 

Jab Aankh Khule To Dharti Hindustan Ki Ho,

Jab Aankh Band Ho To Yaad Hindustan Ki Ho.

Hum Mar Bhi Jaye To Koi Gam Nahi,

Bas Itna Yaad Rahe Ki Marte Waqt Bhi Mitti Hindustan Ki Ho.

 

Happy Independence Day Shayari 2 Line

 

ना सरकार मेरी है ना रब मेरा है,

 ना बड़ा सा मेरा नाम है।

मुझे तो मेरी बस छोटी सी बात का गुरूर है,

 मैं हिंदुस्तान का हूं और मेरा हिंदुस्तान है।।

 

Na Sarkar Meri Hai Na Rab Mera Hai,

Na Bada Sa Mera Naam Hai.

Mujhe To Meri Bas Chhoti Si Baat Ka Gurur Hai,

Me Hindustan Ka Hu Aur Mera Hindustan Hai.

 

काश जिंदगी में कभी वो शाम आए,

जिस मिट्टी से जन्मे उसके भी कभी काम आए।

 हर शाम को यही दुआ है रब से,

देश के लिए खुद को कुर्बान कर काश शहीदों में मेरा भी नाम आए।।

 

Kaash Jindagi Me Kabhi Wo Shaam Aaye,

Jis Mitti Se Janme Uske Bhi Kabhi Kaam Aaye.

Har Shaam Ko Yahi Dua Rab Se,

Desh Ke Liye Khud Ko kurban Kar Kash Shaheedo Me Mera Naam Aaye.

 

Independence Day Shayari 

 

कभी सलमान के बालों कभी कैटरीना के गालों पर मर गए,

 कभी चुंबन कभी चेहरे कभी चालो पर मर गए।

ऊपर बैठकर भगत सिंह भी कहते होंगे,

 यार सुखदेव राजगुरु हम भी किन सालों पर मर गए।।

 

Kabhi Salman ke Balo Kabhi Kaitreena Ke Galo Par Mar Gaye,

Kabhi Chumban Kabhi Chahre Kabhi Chalo Par Mar Gaye.

Upar Baithkar bhagat Singh Bhi Kahte Honge,

Yaar Sukhdev Raajguru Hum Bhi Kin Salo Par Mar Gaye.

 

किसी से भीख नहीं मांगी,

 हमने अपनी बाजुओं पर तिरंगा लहराया है।

 और हमारी खुद्दारी क्या पूछोगे,

 मौत सामने थी हमने फिर भी दुश्मनों को पानी पिलाया है।।

 

Kisi Se Bheekh Nahi Mangi,

Humne Apni Bajuo Par Tiranga Lahraya Hai.

Aur Hamari Khuddari Kya Puchhoge,

Maut Samne Thi Hamne Fir Bhi Dushman Ko Pani Pilaya Hai.

 

Happy Independence Day Shayari 

 

कि शरीफों को तो कुचला जाता है,

 जनाब यहां रुतबा है अनाडियो का।

 और हम मुकाबला उनसे करते हैं,

जिनमें कुछ बात हो वरना मैदान भरा पड़ा है खिलाड़ियों का।।

 

Ki Shareefo Ko To Kuchla Jata Hai,

Janab Yaha Rutba Hai Anadiyo Ka.

Aur Ham Mukabla Unse Karte Hai,

Jinme Kuch Baat Ho Warna Maidan Bhara Pada Hai Khiladiyo Ka.

 

बाज है वो पंख फैलाकर चलता है,

नजरों को दो कदम बढ़ा कर चलता है।

 स्वाभिमान में वो अंगार है कि जैसे भारत मां का सिंगार है,

 ऊंची है गर्दन ऊंची है नजरें तभी तो जनाब ये भारत जिंदाबाद है।।

 

Baaj Hai Wo Pankh Felakar Chalta Hai,

Najro Ko Do Kadam Badhakar Chalta Hai.

Swabhiman Me Wo Angar Hai Ki Bharat Maa Ka Singar Hai,

Unchi Hai Gardan Unchi Hai Najre Tabhi To Janab Ye Bharat Jindabad Hai.

 

Happy Independence Day Shayari 

 

कि प्यार भी भरपूर गया,

 मांग का सिंदूर गया,

नन्ही ननिहालो की लंगोटिया चली गई,

 छोटी-छोटी बेटियों की चोटियां चली गई,

और आपके लिए तो एक आदमी मरा साहब,

मेरे घर की तो रोटियां चली गई।।

 

Ki Pyar Bhi Bharpoor Gaya,

Mang Ka Sindoor Gaya,

Nanhi Nanihalo Ki Langotiya chali gayi,

Chhoti Chhoti betiyo Ki Chotiya Chali Gayi,

Aur Aapke Liye To Ek Aadmi Mara Sahab,

Mere Ghar Ki To Rotiya Chali Gayi.

 

मोहब्बत रहमान किसी की तो कुछ भगवान लिखते हैं,

 मिटा हस्ती इश्क को पहचान लिखते हैं।

मगर हम तलवारों के बेटे और मस्तानों की टोली,

 जो बहा खून सरहद पर अपना हिंदुस्तान लिखते हैं।।

 

Mohabbat Rahman Kisi Ki To Kuch Bhagwan Likhte Hai,

Mita Hasti Ishq Ko Pahchan Likhte Hai.

Magar Hum Talwaro Ke Bete Aur Mastano Ki Toli,

Jo Baha Khoon Sarhad Par Apna Hindustan Likhte Hai.

 

 

… THANK YOU …

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

2 thoughts on “Happy Independence Day Shayari || Deshbhakti Shayari ||स्वतंत्रता दिवस पर शायरी ||15 अगस्त पर शायरी”

  1. कभी सलमान के बालों कभी कैटरीना के गालों पर मर गए,

    कभी चुंबन कभी चेहरे कभी चालो पर मर गए।

    ऊपर बैठकर भगत सिंह भी कहते होंगे,

    यार सुखदेव राजगुरु हम भी किन सालों पर मर गए।।

    It’s impressive 😃 lines 🇮🇳🇮🇳
    Well done ✨🇮🇳

    Reply
  2. कुछ नशा तिरंगे की आन का है,
    कुछ नशा मातृभूमि की शान का है,
    हम लहराएंगे हर जगह ये तिरंगा,
    नशा ये हिंदुस्तान की शान का है।

    Reply

Leave a Comment